computer keyboard की पूरी जानकारी हिंदी में

computer keyboard

कीबोर्ड की जानकारी

कीबोर्ड की जानकारी

अमिर हो या गरीब ,घर हो या ऑफिस ,हर तरह के लोग आज कल computer और laptop का use करते हैं. computer ke baare mein सब को आज कल पूरी जानकारी है.कंप्यूटर और लैपटॉप के use से आज हमारी ज़िन्दगी के बहुत सारे काम आसान हो गए हैं. लोग online water bill जमा करते हैं,बच्चो के school fees को घर बैठे जमा कर देते हैं या बिजली बिल जैसे ज़रूरी काम को अपने कंप्यूटर से ही निपटा देते हैं.लेकिन कंप्यूटर की ऐसी बहुत सी बाते हैं जो लोग नहीं जानते हैं.आज हम बात करेंगे computer keyboard/computer keywords के एक रोचक और दिलचस्प जानकारी के बारे में.

computer keyboard-कंप्यूटर कीबोर्ड

अगर आप कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं तो आप computer keyboard/कंप्यूटर कीबोर्ड के बारे में ज़रूर जानते होंगे.pc keyboard कंप्यूटर का सबसे ज़रूरी हिस्सा है और इसके द्वारा ही कंप्यूटर में कोई शब्द या नंबर टाइप किया जाता है.बिना कीबोर्ड के कंप्यूटर का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है.कंप्यूटर में जिस keyboard का use किया जाता है उसको QWERTY keyboard कहते हैं और इस कंप्यूटर कीबोर्डों को 1932 में Professor August Dvorak ने डिजाईन किया था.कंप्यूटर कीबोर्ड को दुनिया के बहुत सारे भाषा में बनाया गया है लेकिन english keyboard का इस्तेमाल दुनिया में सबसे ज़यादा होता है.

computer keyboard दो तरह के होते हैं

wired computer keyboard

कंप्यूटर में दो तरह के कीबोर्ड का use होता है.पहला वो कंप्यूटर कीबोर्ड है जिसको usb cable के द्वारा कंप्यूटर से जोड़ा जाता है और इस्तेमाल किया जाता है. इस तरह के कंप्यूटर कीबोर्ड को wired keyboard कहा जाता है.wired pc keyboard का इस्तेमाल सबसे ज़यादा होता है क्यों की ये सस्ता होता है और जल्गी ख़राब नहीं होता है और इसको use करने के लिए इसमें अलग से कोई पॉवर सप्लाई देने की ज़रूरत नहीं पड़ती है.

wireless computer keyboard

कंप्यूटर के विकास के साथ इसके पार्ट पुर्जों का भी विकास हुवा.wired keyboard के बाद आया wireless computer keyboard इस तरह के pc keyboard को कंप्यूटर से जोड़ने और use करने के लिए usb cable की ज़रूरत नहीं पड़ती है.wireless pc keyboard आप के कंप्यूटर से बिना तार के जुड़ जाता है.

wireless computer keyboard के साथ एक रिसीवर होता है जिसको कंप्यूटर में लगाना होता है और फिर ये रिसीवर wireless keyboard के गतिविधियों को पकड़ के कंप्यूटर में कार्यशील करता है.wireless keyboard का इस्तेमाल कम होता है क्योकि ये महंगा होता है और इसको चलाने के लिए अलग से पॉवर सप्लाई या बैट्ररी की ज़रूरत पड़ती है.आज कल mini keyboard भी आते हैं जिनको mobile के साथ जोड़ के use किया जा सकता है.

computer keyboard

computer keyboard ki jankari hindi me

computer keyboard के बटन्स की जानकारी

computer keyboard keys

Typewriter keys

इन्हें हम Alphabet keys कहते हैं और ये किसी भी keyboard के सबसे अहम् हिस्से होते हैं.इनका इस्तेमाल किसी भी शब्द या वाक्य को टाइप करने में किया जाता है.A से Z तक के Alphabet key को Typewriter keys कहा जाता है.

Function keys

Typewriter key या keyboard के सबसे ऊपर एक लाइन में F1 से F12 तक जो keys होती हैं उनको function keys कहा जाता है.Function keys का इस्तेमाल ज़यादातर किसी software के इस्तेमाल में होता है और ये software पर निर्भर करता है की इन keys का इस्तेमाल कैसे किया जाये.हर software में इनके use का तरीका अलग अलग होता है.

Page up keys

इस key button का इस्तेमाल से किसी भी document के पहले पेज पर बहुत आसानी से जाया जा सकता है.इसका इस्तेमाल ज़यादातर MS WORD या PDF फाइल्स में किया जाता है.

Page down keys

इस key button का इस्तेमाल भी document को देखने और पढने में किया जाता है और इसके इस्तेमाल से आप कीसी भी document के अगले पन्ने पर जा सकते हैं.

Cursor control keys –

कर्सर कण्ट्रोल किज के द्वारा कंप्यूटर के mouse cursor को control किया जाता है.अगर कभी आप का computer mouse ख़राब हो जाये और आप को कोई ज़रूरी काम करना हो तो आप इन Cursor control keys के द्वारा computer mouse कर्सर को control कर के अपना ज़रूरी काम पूरा कर सकते हैं.Cursor control keys में चार तरह के keys होते हैं up, down, left, right ये तीर के निशान द्वारा दर्शाए गए होते हैं .ये चरों keys कंप्यूटर कीबोर्ड में दाहिने तरफ सबसे निचे होते हैं.

Shift key

शिफ्ट की के द्वारा किसी button के दुसरे फंक्शन का उपयोग किया जाता है.जिन computer keyboard में अलग से Numeric key pad नहीं होता है उनमे number टाइप करने के लिए और स्पेशल करेक्टर के लिए एक ही button का use होता है और इन्ही बटन को इस्तेमाल करने में शिफ्ट की का इस्तेमाल होता है.

Caps lock key

कंप्यूटर में कोई भी लैटर या शब्द ज़यादातर lower case में टाइप किया जाता है.लेकिन कई बार टाइप करते वक़्त upper case की भी ज़रूरत पड़ जाती है.किसी अक्षर को lower case से upper case में टाइप करने के लिए Caps lock key का use किया जाता है.Caps lock key में एक इंडिकेटर भी होता है जो दर्शाता है की आप के computer keyboard का Caps lock key on है या off है.

Numeric key pad

computer keyboard के द्वारा नंबर को टाइप करने के लिए numeric key pad दिया जाता है.Numeric key के द्वारा आप कंप्यूटर में number को टाइप कर सकते हैं.Numeric key pad को off भी किया जा सकता है Num Lock key OFF button के द्वारा.Num Lock key OFF रहने से num pad काम नहीं करता है.कई बार नए कंप्यूटर users परेशान और डर जाते हैं जब उनका number key button काम नहीं करता है वो सोचते हैं की उनका num key pad ख़राब हो गया है.जब की num key pad off पोजीशन में रहने के कारण num pad काम नहीं करता है.जैसे ही इसे on किया जायेगा num pad काम करने लगेगा.

Control or alt keys

सबसे ज़यादा इन दोनों key button का होता है.Control aur alt keys के इस्तेमाल से बहुत सारे काम किये जाते हैं. अधिकतर इनका इस्तेमाल एक साथ किया जाता है.ctrl key का इस्तेमाल किसी button के साथ किया जाता है.जैसे आप को कोई शब्द copy करना है तो सबसे पहले आप उस शब्द को माउस के द्वारा सेलेक्ट करें और फिर ctrl+C button को एक साथ दबाएँ.वो शब्द copy हो जायेगा.अब आप उस शब्द को जहाँ pest करना चाहते हैं वहां जा के ctrl+V button को एक साथ दबाएँ pest हो जायेगा.इसी तरह अगर आप Cntrol+ALT+DELETE keys को एक साथ दबायेंगे तो lock, sign off, swich user, password, task manager का option आ जायेगा.

Space bar key

वैसे तो कंप्यूटर कीबोर्ड के सारे keys अपने आप में महत्वपूर्ण हैं लेकिन इन सब में Space bar का दर्जा सबसे ऊपर है.Space bar key computer keyboard का सबसे बड़ा key होता है.Space bar का इस्तेमाल टाइपिंग में किसी दो शब्दों ,अक्षरों या अंकों के बिच में जगह देने के लिए किया जाता है.

क्या आप F और J key button के बारे में जानते हैं

कभी ध्यान से देखिएगा आप के कंप्यूटर कीबोर्ड के F और J पर एक उभरी हुई लाइन होती है.ये उभरी लाइन बिना कंप्यूटर कीबोर्ड को देखे टाइप करने में मदद करते हैं.जब आप अपने बाएं हाथ की दूसरी ऊँगली (अंगूठे के बाद वाली) और दायें हाथ की दूसरी ऊँगली (अंगूठे के बाद वाली) को F और J button पर रखते हैं तो आप की बाकी तिन उँगलियाँ A ,S ,D और K ,L ,; पर होंगे और दोनों अंगूठे spacebar पर.इस तरह आप की आसान पहुच बन जाती है पुरे keyboard पर.

 

computer keyboard keys,computer ke baare mein,कीबोर्ड की जानकारी,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *