Windows Defender को कैसे चालू करें – Antivirus for windows 10

Computer Ki Jankari पर आप का स्वागत है.आज मै आप को बताऊंगा की window 10 में Windows Defender को कैसे चालू करें.जैसा की आप सब जानते हैं की window 10 माइक्रोसॉफ्ट का सबसे लेटेस्ट ऑपरेटिंग सिस्टम है और आज कल दुनिया भर में इसका खूब उपयोग किया जाता है.किसी भी कंप्यूटर और उसमे सेव डाटा को सुरक्षित रखने के लिए कंप्यूटर में एक एंटीवायरस सॉफ्टवेयर का होना बहुत ज़रूरी है.अगर कंप्यूटर में एक अच्छा एंटीवायरस सॉफ्टवेयर नहीं होगा तो कंप्यूटर के हैक होने की और वायरस से संक्रमित होने की संभावना बनी रहेगी.

हम अपने कंप्यूटर और लैपटॉप जैसे डिवाइस में बहुत सारा डाटा सेव कर के रखते हैं.हम नहीं चाहेंगें की कोई हमारे डाटा को चोरी करे या फिर कोई हमारे कंप्यूटर को ख़राब कर के हमारे डाटा को बर्बाद कर दें.इन्टरनेट की दुनिया में ऐसे बहुत सारे यूजर हैं जिन्हें हम हैकर के नाम से जानते हैं ये दुसरे यूजर के कंप्यूटर को कुछ खास प्रोग्राम जिन्हें वायरस कहा जाता है के मदद से हैक कर लेते हैं और कंप्यूटर में सेव जानकारियों को चुरा लेते हैं.काई बार चोरी किये गए डाटा का गलत उपयोग भी किया जाता है.ऐसी समस्या से बचने के लिए एंटीवायरस सॉफ्टवेयर का उपयोग किया जाता है.

Windows Defender

वायरस किसे कहते हैं और इनका काम क्या है

कुछ साल पहले तक इंटरनेट का उपयोग बहुत कम होता था लेकिन आज के समय में दुनिया भर में इन्टरनेट का उपयोग बहुत अधिक किया जाने वाला है.पहले के मुकाबले आक कल के वायरस बहुत अधिक खतरनाक होते हैं और ये दिन प्रतिदिन खतरनाक होते ही जा रहे हैं.यहाँ मै आप को बता दूँ की वायरस कई तरह के होते हैं इन्हें अलग अलग काम करने के लिए बनाया गया होता है,जैसें कुछ वायरस सिर्फ कंप्यूटर को हैक कर के उसमे सेव डाटा को देखने और पढने के लिए होते हैं ऐसे वायरस कंप्यूटर पर होने वाली गतिविधियों पर नज़र रखते हैं.जब की कुछ वायरस कंप्यूटर में सेव डाटा को खराब करने के लिए होते हैं और कुछ वायरस ऐसे भी होते हैं जो कि पूरे कंप्यूटर डाटा को लॉक करने के बाद उसे अनलॉक करने के बदले फिरौती या एक निचित रकम मांगते हैं.ऐसे में देखा जाये तो इन वायरस से बचाव करना बहुत ज़रूरी होता है.

एंटीवायरस सॉफ्टवेयर Windows Defender

आज दुनिया भर के कंप्यूटर यूजर अपने कंप्यूटर को सुरक्षित रखने के लिए avast जैसे कुछ बेस्ट एंटीवायरस सॉफ्टवेयर का उपयोग करते हैं.अच्छा एंटीवायरस सॉफ्टवेयर फ्री में उपलब्ध नहीं होता है और जो फ्री में उपलब्ध होता है वो उतना कारगर नहीं होता है.एक अच्छे एंटीवायरस सॉफ्टवेयर के लिए यूजर को सालाना एक निशित शुल्क देना पड़ता है.

दुनिया की सबसे बड़ी कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम निर्माता कम्पनी माइक्रोसॉफ्ट ने यूजर के परेशानी को देखते हुवे अपने नए window 10 में built-in real-time antivirus जिसका नाम है Windows Defender दिया है.यानी अगर आप के पास window 10 opreting system पर चलने वाला कंप्यूटर है तो आप को अलग से एंटीवायरस सॉफ्टवेयर खरीदने और इंस्टाल करने की ज़रूरत नहीं है.Windows Defender को एक तरह से antivirus total security भी कह सकते हैं.

Windows Defender को कैसे चालू करें

अगर आप window 10 का उपयोग करते हैं तो कंप्यूटर को वायरस से बचाने के लिए आप को किसी और antivirus की ज़रूरत नहीं है.आप अपने कंप्यूटर में Windows Defender को ऑन कर दें ये आप के कंप्यूटर और उसमे सेव डाटा को हर तरह के वायरस से सुरक्षित रखेगा.तो चलिए देखते हैं की Windows Defender को कैसे चालू करें.

अपने कंप्यूटर में window defender को एक्टिवेट करने के लिए सबसे पहले कण्ट्रोल पैनल को खोलना है और उसके बाद विंडो डिफेंडर को खोलना है.

आप चाहें तो टास्क बार के सर्च बॉक्स में window defender टाइप कर के सीधा window defender के आप्शन को खोल सकते हैं.ऐसे में आप को कंट्रोल पैनल खोजने और खोलने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी.आप निचे स्क्रीन शॉट देख सकते हैं.

Kaise Kare

जैसे ही आप window defender को क्लिक करेंगें आप के डेस्कटॉप पर window defender ओपन हो जायेगा.यहाँ आप को “Turn on” लिखा एक लाल रंग का बटन नज़र उसको क्लिक करें.जैसे ही आप “Turn on” बटन को क्लिक करेंगें आप के कंप्यूटर में window defender activate हो जायेगा.एक्टिवेट करने के बाद आप इसी window में ऊपर नज़र आ रहे Update बटन को दबा कर इसको अपडेट कर लें.

kaise kare

जब अपडेट हो जाये तो एक बार आप इस एंटीवायरस सॉफ्टवेयर के मदद से अपने कंप्यूटर को full scan कर लें.कंप्यूटर स्कैन करने के लिए आप को यहाँ तीन विकल्प मिलेंगें.

  1. Quick
  2. Full
  3. Custom

Quick Scan- अगर आप इस विकल्प का प्रोयोग करेंगें तो window defender आप के कंप्यूटर के कुछ ज़रूरी और रूट फाइल्स को स्कैन करेगा और ये सुनिश्चित करेगा की इनमे कोई वाइरस तो नहीं है या कोई और दुसरे हानिकारक प्रोग्राम तो नहीं है.इस विकल्प में कंप्यूटर का c drive ही स्कैन होता है क्यों की कंप्यूटर के सबसे महत्वपूर्ण files और folders इसी ड्राइव में होते हैं.ऑपरेटिंग सिस्टम के फाइल भी इसी ड्राइव में होते हैं.

Full Scan- जब आप इस आप्शन को सेलेक्ट करेंगें तो window defender आप के कंप्यूटर में सेव हर तरह के फाइल और फोल्डर को स्कैन करता है.इस प्रक्रिया में समय भी बहुत लगता है.हालाँकि इस प्रक्रिया में लगने वाला समय आप के कंप्यूटर में सेव डाटा के साइज़ पर निर्भर करता है.इस आप्शन में कंप्यूटर के सारे ड्राइव को स्कैन किया जाता है और ये फिक्स किया जाता है की कंप्यूटर के किसी भी फाइल या फोल्डर में किसी तरह का कोई वाइरस न हो.

Custom Scan- इस आप्शन का उपयोग यूजर द्वारा बहुत अधिक किया जाता है.इस आप्शन में आप के ऊपर ये निर्भर करता है की window defender किस फाइल या फोल्डर को स्कैन करे.इसका उपयोग यूजर pendrive या दुसरे से लिए गए डाटा को स्कैन करने के लिए करते हैं.अगर आप इन्टरनेट से अलग अलग तरह के डाटा डाउनलोड करते रहते हैं तो आप उन्हें एक ही फोल्डर में रखें और समय समय पर उस फोल्डर को कस्टम स्कैन करते रहें.इसके अलावा जब आप कोई चीज इन्टरनेट से अपने कंप्यूटर में डाउनलोड करते हैं तो उसको ओपन करने से पहले इसके द्वारा एक बार स्कैन कर लें.इस तरह आप के कंप्यूटर में इन्टरनेट के द्वारा कभी कोई वाइरस नहीं आएगा और आप का कंप्यूटर सुरक्षित रहेगा.

इस तरह आप अपने कंप्यूटर में window defender activate कर के अपने कंप्यूटर को हैकर और दुसरे हानिकारक प्रोग्रामों से सुरक्षित रख सकते हैं वो भी बिना किसी थर्ड पार्टी एंटीवायरस सॉफ्टवेयर के.तो आप को Windows Defender को कैसे चालू करें की ये जानकारी कैसी लगी कृपया कमेन्ट कर के ज़रूर बताएं.अगर आप के मन में “Windows Defender को कैसे चालू करें” या Windows Defender को लेकर कोई और सवाल है तो आप कमेन्ट कर के पूछ सकते हैं.नई नई तकनिकी जानकारी,कंप्यूटर की जानकारी और मोबाइल की जानकारी के लिए COMPUTER KI JANKARI ब्लॉग को बुकमार्क और सब्सक्राइब करना मत भूलियेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *